Shardiya Navratri 2021 Day 5: नवरात्रि के पांचवें दिन होगी स्कंदमाता की पूजा, जानें पूजा विधि, शुभ मुहूर्त

Shardiya Navratri 2021 Day 5: 7 अक्टूबर से इस साल 2021 में शारदीय नवरात्रि के पावन पर्व का आरंभ हो चुकी है. देशभर में नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व को लोग बहुत ही ज्यादा धूम-धाम से मनाते हैं. मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा नवरात्रि के दिन की जाती है. इस बार तृतीया और चतुर्थी एक दिन ही होने के कारण पंचमी 10 अक्टूबर को है. ऐसे में नवरात्रि के पांचवें दिन भक्तगण मां दुर्गा के पंचम स्वरूप स्कंमाता की पूजा करेंगे. ऐसी मान्यता है कि जो भी स्कंदमाता की प्रेम से साधना करता है उसके आस-पास और घर से नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं.

Shardiya Navratri 2021 Day 5: ऐसा है स्कंदमाता का स्वरूप

कमल के आसन पर स्कंदमाता विराजमान रहती हैं, इसलिए उन्हें पद्मासना देवी के नाम से भी जाना जाता है. पार्वती और उमा के नाम से भी भक्त स्कंदमाता को पुकारते हैं. जो लोग पूरे मन से मां की उपासना करते हैं, उन्हें अवश्य ही संतान की प्राप्ति होती है. सूर्यमंडल की अधिष्ठात्री देवी भी स्कंदमाता ही हैं.

स्कंदमाता को ये रंग है प्रिय

ऐसा माना जाता है कि श्वेत रंग स्कंदमाता को बहुत ही ज्यादा पसंद है. ऐसे में जब भी मां की उपासना करें तो श्वेत रंग के वस्त्र ही पहनें, और पूजा के दौरान पीले रंग का वस्त्र पहनना ना भूलें.

स्कंदमाता की पूजा विधि

सुबह जल्दी से उठकर स्नान आदि कर लें, और साफ-सुथरे वस्त्र को पहनें. गंगाजल से मां की प्रतिमा को स्नान करवाएं. स्नान करवाने के बाद मां को पुष्प अर्पित करना ना भूलें. रोली कुमकुम मां को लगाएं. पांच प्रकार के फल और मिठाई का स्कंतमाता को भोग लगाएं. अधिक से अधिक स्कंदमाता का ध्यान रखें. मां की आरती करना ना भूलें.

मां का भोग

केले का भोग मां को बहुत ही प्रिय है, या फिर खीर का भोग लगाएं.

स्कंदमाता का मंत्र

या देवी सर्वभूतेषु माँ स्कंदमाता रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

Shardiya Navratri 2021 Day 5: स्कंदतमाता की आरती

जय तेरी हो स्कंद माता, पांचवा नाम तुम्हारा आता.
सब के मन की जानन हारी, जग जननी सब की महतारी.
तेरी ज्योत जलाता रहूं मैं, हरदम तुम्हें ध्याता रहूं मैं.
कई नामों से तुझे पुकारा, मुझे एक है तेरा सहारा.
कहीं पहाड़ों पर है डेरा, कई शहरों में तेरा बसेरा.
हर मंदिर में तेरे नजारे गुण गाये, तेरे भगत प्यारे भगति.
अपनी मुझे दिला दो शक्ति, मेरी बिगड़ी बना दो.
इन्दर आदी देवता मिल सारे, करे पुकार तुम्हारे द्वारे.
दुष्ट दत्य जब चढ़ कर आये, तुम ही खंडा हाथ उठाये
दासों को सदा बचाने आई, चमन की आस पुजाने आई.

shardiya-navratri-2021-day-5

Shardiya Navratri 2021 Day 5: पूजा का शुभ मुहूर्त

4. 40 बजे से 5. 29 बजे – ब्रह्म मुहूर्त
11. 45 बजे से दोपहर 12. 31 बजे तक – अभिजीत मुहूर्त
2.04 बजे से 2. 51 बजे तक- विजय मुहूर्त
5.45 बजे से 6 बजे तक – गोधूलि मुहूर्त
2.44 बजे 7. 54 बजे तक – रवि योग

PM News Click Here
PM News on Google News Follow on Google News

Leave a Comment