Crop Loan 2021: फसल लोन लेना चाहते हैं? पहले जीवन बीमा पॉलिसी खरीदें!

Crop Loan: तेलंगाना के वारंगल में किसानों को अब फसल ऋण हासिल करने में एक नई समस्या का सामना करना पड़ रहा है. बैंकर इस बात पर जोर दे रहे हैं कि किसान फसल ऋण स्वीकृत करने के बदले में वो व्यक्तिगत जीवन बीमा कवर खरीदें. वारंगल में कई सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में यह पूर्व शर्त अपवाद से अधिक एक नियम बन गई है.

उदाहरण के लिए हनमकोंडा जिले के धर्मसागर मंडल के पेड्डा पेंड्याला गांव के एक किसान टी रविंदर रेड्डी का मामला लें. जब उन्होंने फसल ऋण के लिए करुमपुरम में यूनियन बैंक से संपर्क किया, तो अधिकारियों ने तुरंत उन्हें व्यक्तिगत जीवन बीमा पॉलिसी लेने के लिए कहा. उन्होंने उससे कहा “पहले आप एक बीमा पॉलिसी लें और फिर हमारे पास वापस आएं.”

Crop Loan: किसानों को बीमा कराने के लिए मजबूर कर रहे हैं बैंक

हालांकि तेलंगाना में किसान रायथू बीमा के दायरे में आते हैं, जिसके तहत किसान की मौत होने पर उसके परिवार को 5 लाख रुपये मिलते हैं, लेकिन बैंकर्स इसे फसल ऋण की मंजूरी के लिए पात्रता मानदंड के रूप में स्वीकार करने से इनकार कर रहे हैं. रविंदर रेड्डी ने बताया कि एक लाख रुपये के फसल ऋण की मंजूरी के लिए बैंकरों ने उनसे दो लाख रुपये की जीवन बीमा पॉलिसी लेने पर जोर दिया.

इस बारे में बताते हुए उन्होंने कहा “मैंने फसल ऋण के लिए कई बैंकों से संपर्क किया है और उन सभी से समान प्रतिक्रिया मिली है. मेरे पास रायथू बीमा है, लेकिन बैंकर मुझसे व्यक्तिगत बीमा पॉलिसी लेने के लिए कह रहे हैं. आखिरकार मुझे 2 लाख रुपये की पॉलिसी लेनी पड़ी, पहला सालाना प्रीमियम 8,900 रुपये चुकाना पड़ा. वे हमारी मजबूरी का फायदा उठाकर अपने प्रॉडक्ट हम पर थोप रहे हैं.”

एक अन्य किसान, भूपालपल्ली जिले के चित्याल के तंदूरी श्रीनिवास ने कहा कि बैंकरों ने उन्हें बताया कि वह फसल ऋण के लिए अपनी बीमा पॉलिसी का व्यापार नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा, “जब अधिकारी जोर देते रहे, तो मैंने कर्ज नहीं लेने का फैसला किया और शाखा से बाहर चला गया.”

first-buy-life-insurance-policy-to-avail-crop-loan

Crop Loan: बैंक ने किसानों के दावे को नकारा

जब इंडियन एक्सप्रेस ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, वारंगल के क्षेत्रीय उप महाप्रबंधक जी शंकरलाल से संपर्क किया, तो उन्होंने कहा कि फसल ऋण स्वीकृत करने के लिए जीवन बीमा पॉलिसी खरीदना अनिवार्य नहीं है. उन्होंने कहा, ‘हम किसानों से बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए जोर नहीं दे रहे हैं. हालांकि, शाखा स्तर पर स्थिति उनके दावों के बिल्कुल उलट है.

PM News Click Here
PM News on Google News Follow on Google News

, Crop Loan, Crop Loan

Leave a Comment